भारत हालाँकि कई मायनों विश्व के अन्य देशों से अलग पहचान रखता है. नव-सिद्धान्तवादियों की माने तो पूरी पृथ्वी ही मनुष्यता और मानव सभ्यता के वैभव की गाथा समेटे हुए है. अमेरिका से लेकर आस्ट्रेलिया से ऐसे साक्ष्य मिले हैं, जिससे हमारी तमाम वैज्ञानिक अवधारणाओं को गंभीर चुनौती मिलती है. लेकिन हाल में ही जारी नासा के एक वीडियो में कुछ ऐसा उभर कर आया है जिसपर सहसा विश्वास नहीं होता !

भारत की रक्षा कर रही एक अदृश्य शक्ति, नासा ने जारी किया है यह वीडियो

आपको यह जानकार आश्चर्य और ख़ुशी एक साथ होगी. कथित तौर पर नासा द्वारा जारी किये गए एक वीडियो में यह बात खुल कर सामने आई है. वीडियो में देखने में आ रहा कि एक सफ़ेद रौशनी का पुंज भारतीय महाद्वीप के ऊपर चक्कर काट रही है. 

सैटेलाईट कैमरे से शूट किये गए इस वीडियो में इस रौशनी के पुंज को भारत का चक्कर काटते हुए स्पष्ट तौर पर देखा जा सकता है. अदृश्य ईश्वरीय शक्ति का अर्थ है, कोई ऐसी दैविक शक्ति जिसे तकनिकी और वैज्ञानिक ढंग से हासिल नहीं किया जा सकता, वह जो प्राकृतिक नहीं है, जिसका कोई मान्य वैज्ञानिक सिद्धांत प्रतिपादित नहीं और वह सामान्य जनमानस में कौतुहल पैदा करने वाली हो. यह वीडियो में जो कुछ दिख रहा, उसे गहरा आश्चर्य ही कहा जाएगा. हो भी क्यों न, इस बात से इनकार नही किया जा सकता कि कोई न कोई अदृश्य ताकत अवश्य है, जो हमारे जीवन और मृत्यु को नियंत्रित करती है, जो हमें देख रही और हमारी सुरक्षा कर रही.  

जैसा कि सभी वीडियो प्रूफ के साथ होता है, कई ऐसी बातें भी होती है, जिसकी वजह से हर चमत्कार का दावा करता वीडियो संदेह के घेरे में आ जाता है. इस वीडियो में भी आपको कुछ ऐसी बातें मिल जाएँगी. गौर से सुनने पर आपको इस वीडियो में गाड़ियों की चलने की आवाज और हॉर्न की आवाज सुनाई देगी. जैसा कि सर्वविदित है, अन्तरिक्ष में ध्वनी यात्रा नहीं कर सकती और इसलिए गाड़ियों की चलने की आवाज का कोई औचित्य नहीं. लेकिन आइये कुछ अन्य दावों की ओर देखें जो आपके विश्वास को अस्थिर करने के लिए पर्याप्त हैं.  इस वीडियो को दरकिनार कर अगर कुछ बातों पर गौर करें, तो यह बातें इस तथ्य की पुष्टि करती हैं कि भारत बहुत मायनों में विशेष है. 

1.  कांटिनेंटल ड्रिफ्ट थियरी, जिसके अनुसार यह माना जाता है कि पृथ्वी के सभी महाद्वीप एक बड़े से द्वीप का हिस्सा थे जो कालांतर में अलग हुए. यह एक सर्वमान्य थियरी है जिसकी वैज्ञानिक पुष्टि हो चुकी है. लेकिन जहाँ इस तथ्य को स्थापित करने में विज्ञान इक्कीसवीं सदी में कामयाब हुआ वही, आज से दस हजार वर्ष पूर्व से कायम हिन्दू सभ्यता के मान्य ग्रन्थ ऋगवेद में यह स्पष्ट कहा गया है कि पृथ्वी पहले एकद्वीपा थी, फिर द्विद्विपा हुई और बाद में सप्तद्वीपा हुई. अतः पृथ्वी के इतिहास और पृथ्वी पर मानव जाति के व्युत्पति को लेकर जितनी ज्ञान-मीमांसा भारत के पास सुरक्षित है वह विश्व की अन्य सभ्यताओं को उपलब्ध नहीं. इसलिए भी प्रकृति किसी न किसी तरह इस भूमि के सुरक्षा के प्रति तत्पर रहेगी 

2. वर्तमान में जितने भी मत अथवा धर्म उपज कर सक्रिय हुए हों, परन्तु भगवान् कृष्ण के अतिरिक्त किसी भी मानवरूपी व्यक्ति ने स्वयं के साक्षात इश्वर होने का दावा नहीं किया. मैं इश्वर हूँ, यह मिथ्या कहना उस असीम शक्ति को खुली चुनौती है जो कोई मूर्ख ही करना चाहेगा. साथ ही उसे समस्त प्राणियों को वह सन्देश अथवा वह बदलाव कर के दिखाना भी होगा, जिसकी अपेक्षा वह इश्वर से करते हैं. ऐसे में सामर्थ्य का होना बड़ा प्रश्न है. भगवान् श्री कृष्णा और श्रीराम की यह धरती अत्यंत पावन है और समस्त विश्व का कल्याण भारत के ज्ञानमार्ग पर चल कर ही संभव है, इसमें संदेह नहीं. अतः आज के समय में जब, हमारे दुश्मन देशों के पास भारत को तबाह करने योग्य नाभिकीय अस्त्र उपलब्ध हैं, वह शक्ति भारत के प्रति उदासीन नहीं रह सकती.

3. भारत ज्ञान की भूमि रही है. जहाँ पश्चिमी सभ्यताओं में पराक्रम और श्रेष्ठता के उदाहरण के लिए आक्रान्ताओं, दूसरों का धन छीन कर वैभव पैदा करने वालों और जिव-जीवन का नाश करने वालों को रखा जाता है, भारत में प्रकृतिपरायण संयमित और त्याग से जीवन जीने वालों को संत और श्रेष्ठ होने का दर्जा दिया गया है . भारत सबसे प्राचीन स्थापित शहर काशी से सुशोभित है और दुनिया के सबसे बड़े आश्चर्य के रूप में मौजूद कैलाश पर्वत (वर्तमान में चीन के कब्ज़े में )  , जिसकी वास्तविकता का भान दुनिया को हुआ नहीं है, भारत में पूजनीय रहा है. कैलाश चार ओर से असामान्य रूप से बना हुआ एक ऐसा दिव्य पहाड़ है जिसे देखकर सहज आनंद की अनुभूति होती है. यह आपने आस पास के अन्य सभी श्रृंखलाओं से एकदम अलग, विशेष रूप से दीप्तिमान रहता है. इसे देखकर लगता है कि इसे किसी विशेष प्रयोजन से बनाया गया हो , कोई मानव निर्मित पिरामिड की तरह तराशा हुआ कैलाश दिव्य रहस्यों से युक्त है. इस विषय में किसी और पोस्ट में बताया जाएगा. ऐसे दिव्य भूमि भारत को कोई शक्ति सुरक्षा ना दे रही, तब आश्चर्य अवश्य होगा. 

भारत की रक्षा कर रही एक अदृश्य शक्ति, नासा ने जारी किया है यह वीडियो

आपको यह जानकार आश्चर्य और ख़ुशी एक साथ होगी. कथित तौर पर नासा द्वारा जारी किये गए एक वीडियो में यह बात खुल कर सामने आई है. वीडियो में देखने में आ रहा कि एक सफ़ेद रौशनी का पुंज भारतीय महाद्वीप के ऊपर चक्कर काट रही है. 

Facebook Conversations