भारत चमत्कारों का देश है. पेश हैं १० ऐसी विचित्र घटनाएं जिनपर विश्वास करना है कठिन हो जाता है. प्रकृति रहस्यों से भरी पड़ी है, कुछ ऐसी घटनाएं हमारे आसपास घटती हैं, जिनपर यकीं करना कठिन हो जाता है. पर शायद, यही विचित्रता और विविधता ही मनुष्यता को असंभव को पाने के लिए प्रेरित भी करती है. पेश है आपके लिए १० विचित्र घटनाएं, जिन्हें जानकार आपको सुखद आश्चर्य होगा.

4. कलीम अली, जो एक मीटर रॉड से छिदने के बाद भी सकुशल है

कलीम अली, जो एक मीटर रॉड से छिदने के बाद भी सकुशल है

बम्बई के इस १२ वर्षीय लड़के के अंदर लोहे का एक रॉड भाले की तरह छेदता हुआ शरीर के अंदर घुस गया. कलीम तब एक निर्माणाधीन भवन के परिसर में खेल रहा था. डॉक्टर्स ने बड़ी कठिनाई से इस लोहे के सरिये को शरीर से बाहर निकला और इस ओपरेशन में कलीम को लगभग सौ टाँके लगे थे. डॉक्टर्स का मानना था कि कलीम का बचना किसी चमत्कार से कम नहीं! 

5. लक्ष्मी ताम्ता, चार हाथ और चार पैरों वाली बच्ची

लक्ष्मी ताम्ता, चार हाथ और चार पैरों वाली बच्ची

लक्ष्मी ताम्ता नाम की इस बच्ची का जन्म चार हाथ और चार पैरों के साथ हुआ था. डॉक्टर्स के लिए यह आश्चर्य की बात थी. आमतौर पर ऐसे बच्चे ज्यादा समय जीवित नहीं रह पाते. परन्तु बंगलुरु के एक अस्पताल में लक्ष्मी का सफल ओपरेशन किया गया, और दोनो  अतिरिक्त हाथों और पैरों को हटा दिया गया. आज लक्ष्मी दस साल की है और दो हाथ और पैर के साथ सामान्य जीवन जी रही है .

6. प्रहलाद जानी, बिना अन्न और जल के जीवित व्यक्ति

प्रहलाद जानी, बिना अन्न और जल के जीवित व्यक्ति

प्रहलाद जानी, यह संत सन 1 940 से बिना अन्न और जल ग्रहण किये ही जीवित हैं. इनका मानना है कि इन्हें देवी माता से वरदान प्राप्त है और माँ की विशेष कृपा से इन्हें शक्ति मिलती रहती है. प्रहलाद एक गुफा में रहते हैं. इनके इस दावे के बाद, दो विशेष जांच दलों द्वारा इनपर निगरानी रखी गयी और अंततः इनके दावों को सही पाया गया. यह किसी भी तरह का भोज्य पदार्थ ग्रहण नहीं करते, फिर भी जीवित हैं. 



Facebook Conversations